अंतरराष्ट्रीय नशा निरोध दिवस पर एम्स ने निकाली साइक्लोथोंन रैली

दिल्ली , देश | PUBLISHED BY: PK-MISHRA | PUBLISHED ON: 26 JUN, 2022

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय नशा निरोध दिवस पर एम्स (ऑल इंडिया इंस्टिच्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज) अस्पताल से लेकर इंडिया गेट तक एक साइकिल रैली निकाली गई। इस मौके पर विशेष अतिथि के रूप में पहुंचे दिल्ली पुलिस कमिश्नर, राकेश अस्थाना ने  युवाओं को नशे से दूर रहने की सलाह दी और हरी झंडी दिखाकर रैली को रवाना किया। 
गौरतलब है कि हर वर्ष 26 जून को अंतरराष्ट्रीय नशा निरोध दिवस मनाया जाता है। इसको लेकर 'संयुक्त राष्ट्र महासभा' ने एक प्रस्ताव 7 दिसंबर 1987 को पारित किया था। इस प्रस्ताव के तहत नशा से निवारण के लिए विचार करते हुए 26 जून को अंतरराष्ट्रीय नशा निरोध दिवस मनाने का फैसला लिया गया था। तभी से हर साल लोगों को नशीले पदार्थों के सेवन से होने वाले दुष्परिणामों के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से इसे मनाया जाता है। इस मौके पर एम्स के डायरेक्टर डॉ रणदीप गुलेरिया ने भी युवाओं को नशे से दूर रहने की सलाह दी और कहा कि अगर कोई व्यक्ति नशा छोड़ना चाहता है तो एम्स आ सकता है और डॉक्टरों की सलाह भी ले सकता है।
डॉ गुलेरिया ने आगे कहा कि लोग सोचते हैं कि वे बच्चे नशा कैसे कर सकते हैं जिनके पास खाने के लिए पैसे नहीं होते। परंतु नशा करने के लिए सिर्फ मादक पदार्थो की ही जरुरत नहीं होती, बल्कि व्हाफइटनर, नेल पॉलिश, पेट्रोल आदि की गंध, ब्रेड के साथ विक्स और झंडु बाम का सेवन करना आदि भी नशे के आयाम हैं। हालांकि ये बेहद खतरनाक होते हैं। 
वहीं, इस मौके पर मीडिया से बातचीत में अस्थाना ने कहा है कि आज नशा, एक ऐसी बीमारी है जो कि युवा पीढ़ी को लगातार अपनी चपेट में लेकर उसे कई तरह से बीमार कर रहा है। खासकर शराब, सिगरेट, तम्बाेकू एवं ड्रग्सक जैसे जहरीले पदार्थों का सेवन कर युवा वर्ग का एक बड़ा हि‍स्सा इसका शिकार हो रहा है। आज तो फुटपाथ और रेल्वे‍ प्लेाटफार्म पर रहने वाले बच्चेब भी नशे की चपेट में आ चुके हैं।

AIIMS

खबरें और भी हैं..

अन्य समाचार