प्रतिबंध के बावजूद महाराष्ट्र से प्रतिदिन बसों की हो रही आवाजाही

देश , मध्य प्रदेश | PUBLISHED BY: | PUBLISHED ON: 27 JUL, 2021

खरगोन (मध्यप्रदेश)। सीमावर्ती महाराष्ट्र में डेल्टा प्लस वैरीएंट के मामले पाए जाने पर भी अंतर प्रांतीय बसों की निरंकुश आवाजाही जारी है। दो दिनों में आधा दर्जन बसों की आवाजाही और एक बस के दुर्घटनाग्रस्त होने के मामले ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह लगा दिया है। शनिवार को दोपहर में तीन स्लीपर कोच बसों के हाइवे पर पर दौड़ने और खरगोन रूट बदलकर फिर वापस झिरन्या से इंदौर जाने के घटनाक्रम को प्रत्यक्षदर्शियों ने देखा। 

शनिवार-रविवार की रात्रि में एक स्लीपर कोच बस झिरन्या-भीकनगांव मार्ग के मोहनखेड़ी के समीप दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। बस संचालक शरणजीतसिंह भाटिया ने बताया कि बस दुर्घटना के करण रविवार को सुबह 10 बजे तक आवागमन अवरूद्ध रहा। दुर्घटनाग्रस्त बस के यात्रियों को अन्य रूट की बसोंं से मुंबई भेजा गया। खरगोन प्राइवेट बस ओनर्स अध्यक्ष राजेंद्रपालसिंह भाटिया ने बताया कि लाकडाउन के बाद से प्रतिदिन 10 से अधिक अंतर प्रांतीय बसें चल रही है। जब बुरहानपुर और सेंधवा बैरियर पर आरटीओ और पुलिस का दबाव बनता है तो बसों की आवाजाही चित्तौड़गढ़-भुसावल राष्ट्रीय मार्ग के शेरी-नाका (छेंडिया अंजन) से बेरोकटोक शुरू हो जाती है। 

महाराष्ट्र सीमा से सटे प्राइवेट बस आनर्स एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष भाटिया (खरगोन), योगेश चौकसे (बुरहानपुर) व महेश बर्मन (बड़वानी) ने अंतर प्रांतीय बसों के अवैध संचालन पर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने डेल्टा प्लस वेरिएंट के बढ़ते संक्रमण से बसों का संचालन प्रतिबंधित किया है। बावजूद इसे बसें चल रही है। हमारी बसें खड़ी होने से नुकसान हो रहा है। इस मामले में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण जितेंद्रसिंह पंवार ने कहा कि प्रदेश सरकार ने छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, गुजरात और राजस्थान की सीमाएं खोल दी है। महाराष्ट्र को लेकर ताजा स्थिति की जानकारी आरटीओ से लेकर ही बता पाएंगे।

Mp

खबरें और भी हैं..

अन्य समाचार