नाबालिग का अपहरण कर रोहतक में बेचा, चंगुल से भागने के दौरान ट्रेन के नीचे आई

14 Oct, 2021 | रोहतक | garima times

रोहतक। हरियाणा के रोहतक में एक 13 साल की नाबालिग ट्रेन के नीचे आ गई, हालांकि उसकी जान बच गई है। लेकिन जब लड़की से पुलिस ने बातचीत की तो जो मामला सामने आया उसने सभी के होश उड़ा दिए। दरअसल, नाबालिग लड़की महिलाओं के चंगुल से भाग रही थी इसी दौरान वह रोहतक में ट्रेन की चपेट में आ गई।  इस घटना में वह अपने हाथ की अंगुलियों को गंवा चुकी है।  पैर में फ्रैक्चर और गंभीर चोट आई है।  लड़की को रोहतक के रेल अस्पताल में पुलिस की सुरक्षा में भर्ती कराया गया है।  वहीं, परिवार के लोग भी रवाना हो चुके हैं। 

बताया जाता है कि पिछले महीने 24 सितंबर को बोलेरो पर सवार लोगों ने बिहार के गोपालगंज से स्कूल जा रही एक 13 साल की छात्रा का अपहरण कर लिया था।  दूसरे दिन उसे हरियाणा के रोहतक में ले जाकर एक महिला के हवाले कर दिया गया।  महिला के चंगुल से भाग रही छात्रा रोहतक में ही ट्रेन की चपेट में आ गई।  छात्रा को ट्रेन की चपेट में आते गेटमैन ने देखा।  तत्काल उसने रेल पुलिस को सूचना दी।  मौके पर पहुंची रेल पुलिस ने उसे रेलवे के अस्पताल में भर्ती कराया।  छात्रा को जब होश आया तो अपना पता उसने गोपालगंज जिले के कुचायकोट थाना क्षेत्र बताया। उसके बाद रेल पुलिस ने गोपालगंज एसपी को घटना की जानकारी दी। 
इसके बाद गोपालगंज के एसपी ने कुचायकोट थाने की पुलिस टीम को हरियाण रवाना कर दिया।  जहां पुलिस ने मोबाइल को ट्रैक कर महिला को गिरफ्तार कर लिया। सोमवार को महिला को रोहतक से कुचायकोट लाया गया है।  महिला से पुलिस गंभीरता से पूछताछ में जुटी है। 
बता दें कि 24 सितंबर को 7वीं कक्षा की छात्रा घर से स्कूल जाने के लिए निकली थी।  देर शाम तक जब घर नहीं लौटी तो परिजन स्कूल पहुंचे।  पूछताछ में पता चला कि वह स्कूल नहीं पहुंची थी।  इस संबंध में छात्रा के पिता की ओर से कुचायकोट थाने में अपहरण की प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी।  पुलिस को लगा था कि छात्रा किसी युवक के साथ भाग गई होगी। 

रोहतक की जिस महिला के हवाले छात्रा को किया गया था।  वह महिला छात्रा को बेचने की सौदा करने में जुटी थी।  महिला फिलहाल छात्रा से घरेलू काम करा रही थी।  छात्रा को बेचने के लिए महिला ने अपने पड़ोसी किराएदार के मोबाइल से किसी ग्राहक से दो लाख में बेचने का सौदा किया, जिसे छात्रा ने सुन लिया।  बात करने के बाद गलती से मोबाइल वहीं छोड़ दिया। इतने में छात्रा ने अपने घर वालों को उसके मोबाइल से कॉल कर दिया। अभी बात करती तब तक महिला आ गई और उसने मोबाइल ले लिया। उसके बाद छात्रा उसके चंगुल से निकलकर भागने लगी. छात्रा को पकड़ने के लिए महिला और उसके पुत्र दौड़ने लगे।इसी क्रम में छात्रा ट्रेन की चपेट में आ गई। यह देख महिला भाग निकली।

इधर, गोपालगंज के एसपी आनंद कुमार ने कहा कि कुचायकोट से अगवा छात्रा गंभीर रूप से घायल स्थिति में मिली है। उसका इलाज चल रहा. इस कांड में महिला को गिरफ्तार किया गया है। महिला से पूछताछ चल रही है। जल्दी ही पूरे घटना से पर्दा उठ जाएगा।