रिटायर्ड फौजी ने लगाया फंदा, दीवार पर लिखी दर्दभरी दास्तां 

14 Oct, 2021 | सोनीपत | garima times

सोनीपत। सोनीपत जिले के गांव हरसाना कलां में रिटायर्ड फौजी ने फंदा लगाकर अपनी जान दे दी। उसने फंदा लगाने से पहले दीवार पर सुसाइड नोट के रूप में अपनी दर्दनाक दास्तां लिखी। सुसाइड नोट में उसने अपनी पत्नी व ससुराल पक्ष के लोगों पर आरोप लगाया है। घर से आभूषण गायब हो जाने के बाद से परिवार में विवाद था। उसने पत्नी से मारपीट कर दी थी, जिसकी शिकायत पर उसको पुलिस ने पकड़ लिया था। उसकी पत्नी नाराज होकर मायके चली गई थी। 

हरसाना कलां के बीरेंद्र सिंह ने पुलिस को बताया कि वह खेल विभाग के सेवानिवृत्त हैं। उनका भाई नरेश कुमार सेना से सेवानिवृत्त था। नरेश की एक बेटी की शादी हो चुकी है, जबकि छोटी अविवाहित है। वह एक कंपनी में सुरक्षाकर्मी की नौकरी करता था। उसका पांच-छह दिन पहले पत्नी व ससुराल पक्ष के लोगों से झगड़ा हो गया था। इसके बाद उसके भाई की शिकायत थाने में की गई थी। वह जमानत कराकर आया था।

वह 12 अक्तूबर को अपनी ससुराल हनुमान नगर गया था। वहां से वह रात को वापस लौटा था। उसने रात को शराब पी और दीवार पर सुसाइड नोट लिखकर आत्महत्या कर ली। बुधवार सुबह उन्होंने देखा तो उसके घर के दरवाजे खुले पड़े थे। वह घर में पहुंचे तो नरेश का शव रस्सी पर लटक रहा था। उसमें पत्नी, ससुर, सास व सालों पर आरोप लगाए हैं। पुलिस ने बीरेंद्र सिंह की शिकायत पर आत्महत्या को मजबूर करने का केस दर्ज कर लिया है।

उसके घर से लाखों के आभूषण गायब थे। उसको शक था कि आभूषण उसकी पत्नी ने गायब किए हैं। इसको लेकर नरेश का अपनी पत्नी गीता देवी, ससुर ओमप्रकाश व सास-सालों से पांच-छह दिन पहले झगड़ा हुआ था। उसकी पत्नी मायके चली गई थी। लेकिन अब 12 अक्तूबर को अपनी ससुराल गया तो वहां उसके ससुराल वालों ने उसकी काफी बेइज्जती की और भला बुरा कहा। इन बातों से वह काफी परेशान हो गया। भाई की पत्नी पर भी आरोप लगाया कि वह हमेशा गलत का ही साथ देती थी जिसकी वजह से वह परेशान था। 
 
सदर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर बदन सिंह ने कहा कि घर में दीवार पर सुसाइड नोट लिखा मिला है। मृतक नरेश के भाई ने भी उसकी पत्नी और ससुराल पक्ष के लोगों के कारण आत्महत्या करने का मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस मामले की गहनता से जांच कर रही है। घर से आभूषण गायब होने को लेकर विवाद बताया गया है।