गोगी गैंग का हिस्ट्री शीटर रोहतक निवासी अंकित उर्फ गोदू जींद में गिरफ्तार, 20 से ज्‍यादा मामले हैं दर्ज

रोहतक , जींद , | PUBLISHED BY: GARIMA TIMES | PUBLISHED ON: 30 OCT, 2021

रोहतक। दिल्ली के प्रसिद्ध गोगी गैंग के हिस्ट्री शीटर रोहतक जिले के गांव निंदाना निवासी अंकित उर्फ गोदू को सीआइए स्टाफ ने जींद के गांव लुदाना के टोल प्लाजा के निकट से पिस्तौल सहित काबू किया है। अंकित उर्फ गोदू पर रोहतक, जींद व दिल्ली में 20 अपराधिक मामले दर्ज हैं और फिलहाल दिल्ली में गोगी गैंग के लिए काम करता था। अंकित ने 11 अक्टूबर ने गैंगवार के चलते शुक्रवार को रोहिणी दिल्ली में मुठभेड़ में मरे पिल्लूखेड़ा निवासी दीपक उर्फ टाइगर के साथ हत्या की वारदात को अंजाम दिया था और उसके साथ से दिल्ली से फरार हो गया था। इसके बाद पिल्लूखेड़ा एरिया में छिपा हुआ था।

सीआइए स्टाफ इंचार्ज अनूप सिंह ने बताया कि उनकी टीम गोहाना रोड पर गश्त कर रही थी। इसी दौरान उनकी टीम को सूचना मिली कि शातिर बदमाश अंकित उर्फ गोदू असलाह लिए हुए गांव लुदाना के टोल प्लाजा पर खड़ा है और किसी वाहन के आने के इंतजार में है। टीम ने मौके पर पहुंची तो आरोपित ने वहां से भागने का प्रयास किया, लेकिन पीछा करके उसे काबू कर लिया। तलाशी लिए जाने पर उसके कब्जे से 32 बोर का पिस्तौल व चार कारतूस बरामद हुए हैं। पिल्लूखेड़ा थाना पुलिस ने आरोपित के खिलाफ शस्त्र अधिनियम के तहत मामला दर्ज करके अदालत में पेश किया। जहां से एक दिन का रिमांड हासिल किया है। जहां पर आरोपित से दूसरी वारदातों के बारे में पूछताछ करेगी।

सीआइए थाना प्रभारी अनूप ने बताया कि आरोपित अंकित उर्फ गोदू पर सबसे ज्यादा मामले रोहतक जिले के महम थाने में दर्ज हैं। महम थाने में आरोपित पर लूटपाट, हत्या के प्रयास, चोरी के 12 मामले दर्ज हैं और अधिकतर मामलों में फरार चल रहा है। इसके अलावा जुलाना थाने में लूटपाट व दूसरा शस्त्र अधिनियम का दर्ज है। सदर थाना भिवान में चोरी व सदर थाना झज्जर में शस्त्र अधिनियम व दिल्ली के रोहिणी में हत्या का मामला दर्ज है। 

बता दें दिल्ली पुलिस ने 5 दिन पहले गोगी गैंग के चार बदमाशों को दबोचा था। पुलिस टीम ने 23 अक्टूबर को रोहिणी हैलीपेड और कंझावला राेड पर ट्रैप लगाया। जिसके बाद गोगी गैंग के सुमित उर्फ सेठी नाम के एक बदमाश को दबोच लिया गया।  उसकी तलाशी लेने के बाद उससे पास से एक पिस्टल और छह जिन्दा कारतूस बरामद किए गये। पकड़े गए आरोपी सुमित ने पुलिस को बताया कि वो यहां एक रॉबरी को अंजाम देने के लिए आया था।  जिसके बाद पुलिस ने सुमित की सूचना पर उसके तीन अन्य साथियों कुणाल उर्फ राहुल, करण हंस और सूरज को भी गिरफ्तार कर लिया।  उनसे भी दाे पिस्टल और 12 कारतूस बरामद किया गया।  पकड़े गए सभी आरोपियों में से दाे आरोपी पैरोल पर बाहर आने के बाद से फरार था।  पुलिस काे उम्मीद है कि इन बदमाशों की गिरफ्तारी के बाद दिल्ली रोहिणी और आसपास के इलाके में गैंगवार और आपराधिक वारदातों में कमी आएगी। 
 

गांव निंदाना निवासी,सीआइए स्टाफ,पिस्तौल, गैंगवार,रोहतक, जींद

खबरें और भी हैं..

अन्य समाचार