हवा में जहर: हरियाणा बना पूरे देश में सबसे प्रदूषित राज्य, 17 जिलों की हवा सांस लेने लायक नहीं

जींद | PUBLISHED BY: MANOJ | PUBLISHED ON: 08 NOV, 2021

चंडीगढ़ | पटाखों और प राली के जलने से निकले धुएं ने हरियाणा को देश का सबसे प्रदूषित राज्य बना दिया है. हरियाणा राज्य में किसानों द्वारा जलाई जा रही पराली और दीपावली में जले पटाखों की वजह से प्रदेश की हवा जहरीली हो गई है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की माने तो बीते रविवार को हरियाणा देश का सबसे प्रदूषित राज्य और जींद सबसे प्रदूषित शहर रहा.

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर प्रदूषण को लेकर रविवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, हरियाणा एक्यूआर 463 के साथ देश का सबसे प्रदूषित राज्य है. वही जींद खतरनाक जहरीले हवा के साथ देश का सबसे प्रदूषित शहर रहा. प्रदेश के लोगों के लिए चिंता की खबर यह है कि देश के सबसे अधिक प्रदूषित 13 शहरों में हरियाणा के 6 शहर शामिल है. प्रदूषण बोर्ड के अधिकारियों का भी कहना है कि दीपावली में हुई आतिशबाजी के कारण पर्यावरण को भारी नुकसान पहुंचा है.

हरियाणा के 17 जिलों में स्थिति बेहद खराब
केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की रिपोर्ट के मुताबिक, हरियाणा राज्य के 17 जिलों में हवा का स्तर बेहद खराब श्रेणी में दर्ज किया गया है. वहीं राज्य के 6 शहरों की हवा गंभीर श्रेणी में पहुंच चुकी है. पंचकूला और नारनौल जिलों को छोड़कर प्रदेश के सभी जिलों में हवा सांस लेने लायक भी नहीं है. इन शहरों का वायु गुणवत्ता सूचकांक क्रमशः 144 और 196 एक्यूआई रहा है. इन आंकड़ों को देखकर लग रहा है कि प्रदेश सरकार की प्रदूषण को रोकने के लिए तमाम तैयारियां और प्रयास काम नहीं आ रहे हैं.

देश के सबसे अधिक प्रदूषित शहर

जींद           463 एक्यूआई
दिल्ली         456 एक्यूआई
गाजियाबाद     455 एक्यूआई
नोएडा         452 एक्यूआई
गुरुग्राम        450 एक्यूआई
हापुड़          444 एक्यूआई
बल्लभगढ़      433 एक्यूआई
फरीदाबाद      433 एक्यूआई
वृदावन         432 एक्यूआई
कानपुर         428 एक्यूआई
हिसार          428 एक्यूआई
मेरठ           421 एक्यूआई
पानीपत         405 एक्यूआई

haryana pollution, Haryana Air quality, air pollution in Haryana, firecrackers, Jind

खबरें और भी हैं..

अन्य समाचार