रोहतक में 3 युवकों ने ली मौत की फोटो, ट्रेन पर चढ़ ले रहे थे सेल्फी, लगा हजारों केवी का झटका, हालत गंभीर 

रोहतक | PUBLISHED BY: GARIMA TIMES | PUBLISHED ON: 29 NOV, 2021

रोहतक। कलानौर रेलवे स्टेशन पर कल शाम करीब पांच बजे बड़ा हादसा हो गया जब तीन युवकों को सेल्फी लेना महंगा पड़ गया और उनकी जान पर बन आई। मालगाड़ी के डिब्बे पर चढ़कर सेल्फी ले रहे युवक 25 हजार वोल्ट का करंट लगने से बुरी तरह से झुलस गए। तीनों को गंभीर हालत में पीजीआई रोहतक के ट्रॉमा सेंटर में दाखिल कराया गया है। जीआरपी मामले की जांच पड़ताल कर रही है।

जानकारी के अनुसार कलानाैर कस्बे के 3 युवक कर्ण, बिजेंद्र और अजय संडे की मौज मस्ती करने के लिए ये तीनों दोस्त रेलवे स्टेशन पर घूमते हुए पहुंचे थे। शाम को करीब साढ़े 5  बजे स्टेशन परिसर के बाहर अपनी बाइक खड़ी कर तीनों स्टेशन परिसर में घूमने लगे। इस दौरान ट्रैक पर रोहतक से भिवानी जा रही मालगाड़ी टीएमलके खड़ी थी। तीनों युवकों ने मालगाड़ी के एक डिब्बे पर चढ़ सेल्फी लेने और एक वीडियो शूट करने का प्लान बनाया।

इसके बाद तीनों एक डिब्बे की छत पर चढ़ गए। वहां मोबाइल से जब वो सेल्फी ले रहे थे तो ऊपर से गुजर रही बिजली की हाई टेंशन तार से गुजर रहे 25 हजार किलोवोल्ट के करंट ने उन्हें अपनी चपेट में ले लिया। करंट लगने से तीनों युवक झुलस गए। इतना ही नहीं झटके के साथ एक युवक डिब्बे से नीचे आ गिरा। हादसे के तुरंत बाद जीआरपी ने तीनों युवकों को संभाला और उन्हें एंबुलेंस से कलानौर के नागरिक अस्पताल में पहुंचाया। वहां से तीनों को कुछ देर बाद पीजीआई रेफर कर दिया गया।

तीनों को गंभीर हालत में रोहतक पीजीआई में दाखिल करवाया गया हैं। इनमें कर्ण और बिजेंद्र की हालत चिकित्सक गंभीर बता रहे हैं। अजय की हालत में कुछ सुधार बताया जा रहा है।  हादसे को लेकर बताया जा रहा है कि ट्रेन के डिब्बे पर चढ़ने के बाद तीनों युवकों ने बेवकूफी की सारी हदें पार कर दी। ऊपर से गुजर रही हाई टेंशन तार डिब्बे से कुछ ही फीट ऊंचे हैं। माना जा रहा है कि डिब्बे पर चढ़ जब तीनों युवकों ने फोन को ऊंचा उठा सेल्फी लेने की कोशिश की तो एक का हाथ हाई टेंशन तार से छू गया।

कलानौर के कर्ण की कस्बे में ही फ्लैक्स बोर्ड और शादी कार्ड बनाने की दुकान है। जबकि बिजेंद्र एक मिठाई की दुकान में काम करता है। अजय बीएससी सेकंड ईयर का छात्र है। रविवार को अवकाश होने के चलते तीनों दोस्त एक साथ घूमने के लिए निकले थे। ट्रेन के डिब्बे पर चढ़े युवकों के साथ हादसा होते ही स्टेशन पर मौजूद कई सवारियों ने शोर मचा दिया। जीआरपी ने तीनों को संभाला। अजय डिब्बे से नीचे गिरा मिला। उसके हाथ पर चोट लगी है। बिजेंद्र व कर्ण दोनों करंट लगने से काफी ज्यादा झुलसे हैं।

बता दें कलानौर रेलवे स्टेशन पर न पुलिस कर्मचारी और न कोई सिक्योरिटी गार्ड तैनात है। सीसीटीवी तक नहीं लगे हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि रेलवे पार की कॉलोनी के लोग हमेशा ट्रैक को पैदल पार करते हैं क्योंकि कस्बे के साथ लगते ट्रैक पर अंडरपास की सुविधा नहीं है। वहीँ 

जीआरपी थाना प्रभारी नरेंद्र सिंह ने बताया कि शाम करीब पांच बजे मुरादाबाद से चलकर मालगाड़ी भिवानी की तरफ जा रही थी। जब गाड़ी रोहतक से चलकर शाम को कलानौर रेलवे स्टेशन पर पहुंची तो सवारी गाड़ी को क्रॉसिंग देने के लिए स्टेशन पर साइड वाली लाइन पर खड़ी हो गई। तभी कलानौर के चार युवक स्टेशन पर पहुंचे और मालगाड़ी के डिब्बे पर चढ़कर तीन युवक सेल्फी लेने लगे, जबकि एक नीचे खड़ा रहा। सेल्फी लेते समय युवकों का हाथ 25 हजार वोल्टेज की लाइन (ओएचई) से टकरा गया। इस दौरान जोरदार धमाके के साथ कलानौर निवासी बिजेंद्र (24), करण (18) व अजय (17) झुलस गए। तीनों को पीजीआई ले जाया गया, जहां दो 45 तो एक 40 प्रतिशत तक झुलसा हुआ है। हादसे की सूचना पाकर परिजन मौके पर पहुंचे और तत्काल पीजीआई के ट्रॉमा सेंटर में दाखिल करवाया। जीआरपी थाना प्रभारी का कहना है कि अभी जांच पड़ताल कर रहे हैं, बयान दर्ज होने के बाद आगे की कार्रवाई करेंगे।

मालगाड़ी,सेल्फी, मोबाइल,ट्रॉमा सेंटर,कलानाैर कस्बे , मालगाड़ी

खबरें और भी हैं..

अन्य समाचार