आशिकी में पत्नी ने करवा दी प्रेमी से पति की हत्या, डेढ़ साल की बच्ची पर टूटा कहर 

हरियाणा | PUBLISHED BY: GARIMA TIMES | PUBLISHED ON: 29 NOV, 2021

करनाल। हाइवे पर हुई सिख युवक की हत्या का कारण जिसे पुलिस लुटेरों के गैंग से जोड़ रही थी उसका खुलासा हो गया। खुलासे से पुलिस तो हैरान है ही, घर वाले हक्के बक्के रह गए। कोई यकीं भी नहीं कर सकता था कि हत्यारा और कोई नहीं उसका जीवन साथी निकलेगी, वह भी अपनी आशिकी के चक्कर में। जी हां हम बात कर रहे हैं हरियाणा के करनाल जिले के नीलोखेड़ी निवासी 34 वर्षीय अमनदीप की जिसकी हत्या 24 नवम्बर को ड्यूटी से घर लौटते वक्त कर दी गयी थी और अगले दिन सुबह उसका शव खेतों में पड़ा मिला था। 

मृतक अमनदीप सिंह के हत्यारों  का पुलिस ने पता लगा लिया है।  पुलिस और परिवार जिसे बाहर ढूंढ रहे थे वो घर का ही सदस्य निकला।  वह कोई और नहीं बल्कि अमनदीप की पत्नी रविन्द्र कौर ने ही अपने प्रेमी से पति की हत्या करवाई है।  सीआईए पुलिस ने अमनदीप की पत्नी के अलावा अंबाला के तीन युवकों को भी गिरफ्तार किया है।   जिन्हें कोर्ट में पेश कर रिमांड हासिल किया जाएगा। एसपी गंगाराम पुनिया ने बताया कि आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

पिता गुरजीत सिंह ने बताया कि अमनदीप दो बहन भाई हैं। उसका बेटा अमनदीप घर से रोजाना गांव उचाना में बनी जी-लैब में ग्राफिक डिजाइनर पद पर काम करने जाता था। रोजाना की तरफ 24 नवंबर को अपनी बाइक पर लैब से घर के लिए निकला, पर घर नहीं पहुंचा। जब काफी समय तक नहीं आया तो उन्होंने उसकी पूरी तलाश की, लेकिन कहीं भी पता नहीं चला। जानकारी पुलिस को भी दी। अगले दिन तरावड़ी के खेतों में शव पड़ा मिला। अमनदीप के सिर व गर्दन पर चोट के निशान बने हुए मिले। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर उन्हें सौंप दिया।

सीआईए करनाल ने जांच करते हुए अंबाला के 2 युवकों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। उनके बाद मृतक की पत्नी रविन्द्र कौर को भी पूछताछ के लिए बुलाया। पुलिस का शक पूछताछ के बाद यकीन में बदल गया। रविवार रात को चारों को गिरफ्तार कर लिया गया। जिन्हें सोमवार को कोर्ट में पेश करके रिमांड पर लिया जाएगा और मर्डर के पीछे की पूरी कहानी का पता लगाया जाएगा।

नीलोखेडी के अमनदीप की वर्ष 2016 में अंबाला निवासी रविन्द्र कौर में शादी हुई थी। अब शादी को पांच वर्ष बीत चुके हैं। दोनों की शादी के बाद उनके पास डेढ़ साल की बेटी है। परिजनों ने बताया कि रविन्द्र कौर कोई भी काम अकेले नहीं करती थी। जब भी कोई काम करती, तब वो अपने साथ अपने पति अमनदीप को लेकर जाती। कभी उसे फाेन पर भी किसी के साथ बातचीत करते नहीं देखा। ऐसे में परिवार के किसी भी सदस्य को रविन्द्र कौर पर शक नहीं हुआ। परिजनों को यह समझ नहीं आ रहा कि अगर उसे किसी दूसरे से प्रेम था तो बच्ची को जन्म देने की जरुरत थी। अब पिता की हत्या हो गई और मां जेल चली जाएगी तो इस बच्ची का क्या होगा। इस सारे कृत्य से अनजान डेढ़ साल की मासूम का क्या कसूर था जो इसकी माँ ने इसके बारे में कुछ नहीं सोचा। 

बता दें, गुरुवार दोपहर को खेतों में खून से लथपथ शव पड़ा मिला। शव के पास ऑटो स्टार्ट करने वाली रस्सी भी मिली। पुलिस को शव के समीप से उसकी हीरो हांडा डीलक्स मोटरसाइकिल स्टैंड पर लगी हुई मिली। मोटरसाइकिल की चाबी नीचे पड़ी हुई थी। मोटरसाइकिल से कुछ गज की दूरी पर अमनदीप का शव खेत में पड़ा हुआ था। शव से करीब पंद्रह फीट की दूरी पर ब्ल्यू नायक शराब की खाली बोतल मिली और खाली बोतल के ठीक सामने करीब दस फीट की दूरी पर बोतल का खाली रैपर भी मिले। रैपर और खाली बोतल के ठीक मध्य में दो प्लास्टिक के खाली गिलास और संतरे के ताजे छिलके पड़े हुए थे। शराब की बोतल के रैपर से करीब पंद्रह फीट की दूरी पर एक थर्मोकोल की प्लेट और दो सिल्वर के लिफाफे भी पड़े हुए थे। थर्मोकोल की प्लेट पर सब्जी लगी हुई थी। सिल्वर के एक लिफाफे में रोटी पैक करवाई गई लग रही थी। दूसरे लिफाफे में सब्जी के निशान मिले थे।

लुटेरों के गैंग ,खुलासा,पुलिस , हत्यारा ,जीवन साथी

खबरें और भी हैं..

अन्य समाचार