प्रदेश में 20 साल से चल रहा है नौकरी भर्ती गिरोह, अब खात्मे के लिए हरियाणा सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम

हरियाणा | PUBLISHED BY: GARIMA TIMES | PUBLISHED ON: 29 NOV, 2021

चंडीगढ़। नौकरियों में चल रहे फर्जीवाड़े को लेकर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने माना कि भर्तियों के गिरोह हरियाणा में पिछले 20 साल से चल रहे हैं। इन गिरोहों की जड़ें काफी गहरी हैं और ये बड़े सिस्टम से काम करते हैं। उन्होंने कहा कि गिरोहों को खत्म करने का काम सरकार ने शुरू कर दिया है। इसके लिए विजिलेंस को पूरी छूट दी गई है। वहीं, पिछले सात साल में हुई करीब 83 हजार भर्तियों की जांच का कोई औचित्य नहीं है, केवल विवादित और जिनमें गड़बड़ी मिली हैं, उनकी ही जांच कराई जाएगी। गड़बड़ी में जो भी शामिल होगा, उनको बख्शा नहीं जाएगा।

बता दें हरियाणा में नौकरियों में चल रहे गड़बड़झाले को लेकर विपक्षी दलों ने सरकार की घेराबंदी शुरू कर दी है। कांग्रेस, इनेलो आप नेता एक के बाद एक लगातार सरकार पर हमला बोल रहे हैं।  मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने नौकरियों के मामले में विपक्ष पर जमकर पलटवार किया। परीक्षा और भर्ती प्रणाली को कटघरे में खड़ा करते हुए मनोहर लाल ने कहा कि कांग्रेस के समय में 11 भर्तियां अदालत ने रद्द की जबकि एक पूर्व सीएम (ओमप्रकाश चौटाला) को जेल भी जाना पड़ा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने तो एक भर्ती में परीक्षा को ही खत्म करके केवल साक्षात्कार रख दिया था, ताकि अपने लोगों को नौकरी दी जा सके।

हालांकि, अदालत ने यह भर्ती भी रद्द कर दी थी। जबकि भाजपा सरकार ने मेरिट के आधार पर नौकरी देते हुए ग्रुप सी और डी में साक्षात्कार खत्म कर दिया है। साथ ही आज तक अदालत से पिछले सात साल में एक भी भर्ती रद्द नहीं की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भर्तियों में पारदर्शिता बढ़ाने के लिए सरकार ने कई फैसले लिए हैं। पहले एचपीएससी में केवल एक मेंबर को नंबर देने का प्रावधान था, लेकिन हमने इसे बदल कर चारों को यह अधिकार दिया। जबकि कांग्रेस के समय में 30 नंबर थे जो अदालत ने 20 कर दिए, बाद में साढ़े 12 प्रतिशत किया गया है। सरकार ने आर्थिक व सामाजिक रूप से पिछड़े लोगों को हमारी सरकार ने प्राथमिकता दी है। विपक्ष द्वारा बार-बार आरोप लगाने के सवाल पर मनोहर लाल ने कहा कि विपक्ष को केवल थोथे तीर नहीं चलाने चाहिए।

अगर उनके पास गड़बड़ी की कोई शिकायत है तो सरकार, विजिलेंस या फिर अदालत को भी दे सकते हैं, ताकि गलत लोगों पर एक्शन लिया जा सके। मनोहर लाल ने कहा कि सरकार का लक्ष्य है कि गड़बड़ी करने वाले को साफ किया जाए। पेपर लीक में 48 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं, जबकि एचपीएससी मामले में भी जो भी शामिल रहेगा, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

वहीँ मुख्यमंत्री हरियाणा निवास में पत्रकारों से बात कर रहे थे। एक अन्य सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि डेंटल सर्जन या एचसीएच प्री की परीक्षाओं को लेकर आयोग ही कोई फैसला लेगा। किस परीक्षा में कितने उम्मीदवार पैसे देकर पास हुए और कितनों ने खुद अपने दम पर परीक्षा पास की, इसके आधार पर ही फैसला होगा। भविष्य में आयोग में नियुक्ति को लेकर कोई मैकेनिज्म अपनाने के सवाल पर कहा कि आयोग में अच्छे लोगों की नियुक्ति होती है, इसमें सुधार को लेकर और सलाह ली जाएंगी। वहीं, परीक्षाओं की गोपनीयता बनाए रखने को तमाम फैसले लेंगे।

सुरजेवाला द्वारा किसी को बचाने के सवाल पर मनोहर लाल ने पलटवार किया कि केवल थोथे तीर नहीं चलाने चाहिए। किसी को बचाने का तो सवाल ही पैदा नहीं होता। ऑफिस में पैसे नहीं मिलने पर सीएम ने कहा कि सुरजेवाला भी सही हैं और मैं भी। क्योंकि असल में तो पैसे अश्वनी के घर पकड़े थे, उसके बाद वो पैसा एचपीएससी कार्यालय पहुंचा। इससे पहले नागर ने कार्यालय में कभी पैसे नहीं लिए। 2016 के 38 एचएसीएस के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह मामला हाईकोर्ट में चल रहा है। हाईकोर्ट के आदेशानुसार ही फैसला लिया जाएगा। बता दें कि 2016 के एचसीएस को लेकर विवाद चल रहा है। इनमें से 19 एचसीएस, 7 ईटीओ और 2 एचपीएस हैं।

हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने डेंटल सर्जन भर्ती फर्जीवाड़ा उजागर होने पर हरियाणा लोक सेवा आयोग कार्यालय का घेराव करने का एलान किया है। 7 दिसंबर को हरियाणा में पार्टी मामलों के प्रभारी विवेक बंसल के नेतृत्व में कांग्रेसी आयोग कार्यालय का घेराव करेंगे। हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय के प्रभारी एवं पूर्व मुख्य संसदीय सचिव चौधरी रामकिशन गुर्जर ने बताया कि एचपीएससी को घोटालों के लिए याद किया जा रहा है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी एक तरफ जहां महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दे लेकर भाजपा सरकार के खिलाफ अभियान चला रही है, वहीं अब प्रदेश के लाखों बेरोजगारों की आवाज को उठाएगी। युवाओं के भविष्य को आयोग ने अंधकारमय बना दिया है। अनेक भर्तियों में युवाओं से नौकरी लगाने के लिए नकद पैसे लिए गए हैं।

उन्होंने बताया कि हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के तमाम नेताओं एवं कार्यकर्ताओं सहित हरियाणा महिला कांग्रेस, हरियाणा युवा कांग्रेस, हरियाणा इंटक, हरियाणा कांग्रेस सेवा दल, विधि विभाग, ओबीसी विभाग, असंगठित श्रमिक कांग्रेस व राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के साथ-साथ कांग्रेस पार्टी के सभी प्रकोष्ठों के पदाधिकारी व सदस्य घेराव में बढ़ चढ़कर भाग लेंगे।

नौकरियों ,फर्जीवाड़े, मुख्यमंत्री मनोहर लाल ,भविष्य,डेंटल सर्जन,गिरोहों

खबरें और भी हैं..

अन्य समाचार