बड़ी ने दांतों से काट दी छोटी बहन की नाक, पुलिस ने नहीं लिखी रिपोर्ट 

03 Aug, 2020 | जीटी एक्सक्लूसिव | garima times

फरीदाबाद। जिले के पल्ला थाना क्षेत्र के इस्माइलपुर में बड़ी बहन ने 22 वर्षीय युवती की नाक का अगला हिस्सा दांतों से काटकर अलग कर दिया। पीड़ित युवती का नाम नूर निशा है। वह परिवार से अलग अकेले रहती है। उसका कहना है कि वह बड़ी बहन पर कार्रवाई कराना चाहती है, मगर नवीन नगर चौकी पुलिस ने उसकी शिकायत पर मुकदमा दर्ज करने की बजाय दबाव बनाकर समझौता लिखवा लिया। इधर पीड़िता का सफदरजंग अस्पताल दिल्ली में टांके लगाकर उसकी नाक का हिस्सा दोबारा जोड़ा गया। 

ऑपरेशन सफल नहीं रहा, कल डाक्टर जोड़े गए हिस्से हो हटाएंगे और प्लास्टिक सर्जरी से उसकी नाक ठीक करने का प्रयास करेंगे। नूर निशा ने बताया कि चार साल पहले पिता की मौत हो गई। बड़ी बहन की शादी हो चुकी है। मां भाइयों के साथ रहती है। एक साल से नूर निशा किराए के मकान में अकेली रहती है और मछली की दुकान से अपना गुजारा करती है। पीड़िता का कहना है कि मां व बड़ी बहन की नजर दुकान से होने वाली उसकी कमाई पर है। इसलिए वे आए दिन उसके साथ मारपीट करती हैं। उसकी मां और बहन घर आईं और दोनों ने उसे पीटा। मां ने उसे पीछे से जकड़ लिया। वहीं, बहन ने दांतों से उसकी नाक काटकर अलग फेंक दिया। दोनों उसे जान से मारने की धमकी देकर चली गईं।

नूर निशा अपने एक दोस्त के साथ नाक का कटा हुआ हिस्सा लेकर बादशाह खान अस्पताल पहुंची। वहां से सफदरजंग अस्पताल रेफर कर दिया। अस्पताल से छुट्टी मिलने पर वह दोस्त के साथ नवीन नगर चौकी शिकायत लेकर पहुंची थी। दो दिन तक पुलिसकर्मी उसे चक्कर कटवाते रहे। वह मुकदमा दर्ज कराने के लिए अड़ी रही। पुलिस ने उसके दोस्त पर मुकदमा दर्ज करने की धमकी दी। इससे वह डर गई। निशा का आरोप है कि पुलिस ने उससे लिखवा लिया कि नाक गिरने से टूटी। वहीं उसकी मां व बहन से इलाज के लिए 10 हजार रुपये दिलवा दिए। इसमें से भी एक हजार रुपये पुलिसकर्मियों ने रख लिए।

नवीन नगर चौकी के प्रभारी एसआई नरेंद्र ने कहा कि पारिवारिक विवाद था। निशा ने खुद लिखकर दिया कि उसकी नाक गिरने के कारण टूटी। उसने किसी पर कोई कार्रवाई ना करवाने की बात भी लिखकर दी।