आगे अपराधी और पीछे पुलिस, मोस्ट वांटेड गैंगस्टर्स   गिरफ्तार

06 Aug, 2020 | Haryana Uttar Pardesh Delhi | garima times

झज्जर।  दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने हरियाणा के जिले झज्जर में दो ऐसे गैंगस्टर को गिरफ्तार किया है जो अब तक 13  से ज्यादा हत्याएं कर चुके हैं तथा उन पर कई अपहरण और फिरौती के केस भी दर्ज हैं । गैंगस्टर्स के नाम अंकित गुज्जर और अनिल गुज्जर है। पुलिस को खबर मिली थी कि अंकित गुर्जर हरियाणा के झज्जर जिले के  इलाके में मौजूद है। खबर मिलते ही पुलिस की कई टीम्स ने इस इलाके की घेराबंदी शुरू कर दी। हथियारों से लैस ज्यादातर पुलिसवाले सादी वर्दी में थे। पुलिस ने अंकित गुर्जर को सरेंडर के लिए कहा लेकिन हथियार डालने की बजाए अंकित ने फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई में काउंटर फायरिंग की जिसमें पुलिस की गोली सीधे अंकित की गाड़ी के टायर में जा लगी।

अंकित और अनिल पर दिल्ली, यूपी और हरियाणा में कई हत्याओं, अपहरण और रंगदारी के कई केस दर्ज हैं।अंकित ने प्रधानी के चुनाव में निर्विरोध चुनाव जीतने के लिए अपने इलाके में पोस्टर लगवाए थे, जिसमें लिखा था कि जिसने उसका चुनाव में विरोध किया वो मारा जाएगा।  स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद सिंह कुशवाहा ने बताया कि हमें सूचना मिली थी कि अंकित गुज्जर झज्जर आने वाला है।  इसके बाद एक टीम बनाई गई और गैंगस्टर को पकड़ने के लिए जाल बिछाया गया।  अंकित गुज्जर और उसके साथ अनिल को हरियाणा के झज्जर में कई किलोमीटर पीछा करने के बाद पुलिस ने उसकी क्रेटा गाड़ी के टायर को गोली मारकर पंक्चर कर दिया और दोनों को पकड़ लिया गया। पुलिस ने बताया कि आरोपी के पास से 2 पिस्टल और कारतूस बरामद किए गए हैं।  अंकित साउथ दिल्ली में रोहित चौधरी गैंग के साथ मिलकर अपना दबदबा बनाना चाहता था।  अंकित पर सवा लाख जबकि अनिल के सिर पर 1 लाख का इनाम घोषित था। 

अंकित ने 2019 में बागपत के अपने खैला गांव के इलेक्शन में विनोद नाम के शख्स की हत्या कर दी थी, क्योंकि विनोद उसके खिलाफ ग्राम प्रधान के चुनाव में खड़ा हो रहा था।  विनोद की हत्या के बाद उसने पूरे गांव में पोस्टर लगा दिए थे जिनमें लिखा था, उसे निर्विरोध प्रधानी चाहिए। जिसने उसका विरोध किया या जो खिलाफ गया उसका हाल विनोद जैसा होगा।  अब पुलिस अंकित के साथी रोहित चौधरी और रवि गंगवाल की तलाश कर रही है।