कोरोना के साथ रोहतक में डेंगू ने दी दस्तक

16 Sep, 2020 | Rohtak |


रोहतक। कोरोना का कहर ख़त्म भी नहीं हुआ की जिले में डेंगू ने दस्तक दे दी है। खुद आंकड़े जारी न करने का आराेप झेल चुका स्वास्थ्य विभाग इस केस की पुष्टि कर रहा है। पीजीआई के त्रिवेणी हॉस्टल में रहने वाली एमबीबीएस की स्टूडेंट्स को डेंगू रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। छात्रा ने डेंगू के लक्षण महसूस होने पर पीजीआई में टेस्ट कराया था। फिलहाल चिकित्सकों की निगरानी में छात्रा का इलाज चल रहा है। बतादे कि स्वास्थ्य विभाग की टीम ने एक्टीविटी के दौरान 1630 कूलर, 695 टैंक, 149 होदी, अन्य स्थान 2637 स्थानों को चेक किया। तो वही अभी तक जिले में मलेरिया के छह केस और डेंगू का एक केस दर्ज किया जा चुका है। जबकि वर्ष 2020 के 15 सितंबर तक 2557 लोगों को नोटिस जारी किए जा चुके हैं। वर्ष 2019 में 15 सितंबर तक मलेरिया के 8 व डेंगू के 10 केस दर्ज हो चुके थे। सिविल सर्जन डॉ. अनिल बिरला ने जिले के सभी प्राइवेट अस्पतालों और क्लीनिक में डेंगू और मलेरिया का टेस्ट करने वाले चिकित्सकों को पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर फौरन लिखित में सूचना देने के आदेश दिए हैं। यदि कोई अस्पताल या क्लीनिक संचालक सूचना देने में लापरवाही बरतेगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। 

दरअसल 2019 के 15 सितंबर तक जिले में डेंगू के 10 केस दर्ज किए जा चुके थे। लेकिन इस वर्ष काेरोना महामारी से निपटने में व्यस्त हेल्थ डिपार्टमेंट के अधिकारी सिर्फ एंटी लारवा एक्टीविटी चलाने का दावा करते रहे। जबकि जिले के निजी अस्पताल और क्लीनिकों में डेंगू और मलेरिया मरीज मिलने का सिलसिला जारी हो गया था। दैनिक भास्कर ने 15 सितंबर के अंक में खबर प्रमुखता से प्रकाशित की। जिस पर संज्ञान लेते हुए विभाग ने मंगलवार को तेजी से एंटी लारवा एक्टीविटी चलाई और एक डेंगू मरीज पीजीआई कैंपस में पाया गया। वहीं पॉजिटिव रिपोर्ट मिलने के बाद एंटी मलेरियाा शाखा के सुपरवाइजरों की टीम ने आनन फानन में हास्टल परिसर में पहुंचकर एंटी लारवा एक्टीविटी चलाई। सिविल सर्जन डॉ. अनिल बिरला के आदेशानुसार जिले की आठ टीमों ने सुपरवाइजर धर्मवीर सैनी, राजेश कुमार, अनिल सांगवान व बसंत कुमार की अगुवाई में शहर के विभिन्न कालोनियों व गांवों में जाकर एंटी लारवा एक्टिविटी चलाई। इस दौरान शहर में 2,715 घरों को चेक किया गया जिसमें 52 घर में जमा पानी में लारवा पाया गया। टीम के सदस्यों ने घरों में मौजूद मिले लोगों को नोटिस जारी कर दोबारा चेकिंग के दौरान लारवा पाए जाने पर चालान करने की चेतावनी दी।