रोहतक रेडक्रास सोसायटी में भी हुआ जमीन घोटाला पर क्या इसपर डल चुकी है मिट्टी

25 May, 2020 | Haryana Rohtak | गरिमा टाइम्स

रोहतक। जो संस्था आम जन की सेवा के लिए सुर्खियों में रहती है, आज उसके दामन पर अगर घोटाले का छीटा भी पड़ जाए तो बड़ा अचंबा होने की बात है। खबर निकलकर आई है रोहतक रेडक्रास में लाखों के घोटाला की और वह भी जमीन को लेकर। जमीन घोटाले मामले में रोहतक वैसे भी सुर्खियों में रहता है। चाहे पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा के कार्यकाल में शहर की पॉश इलाके की शहर थाना वाली जमीन को कौड़ियों के दाम बेचने की बात हो चाहे अब खट्टर सरकार में रेड क्रास द्वारा लीज पर कौड़ियों के भाव जगह देने की बात चर्चा में आई है।

इस मामले को लेकर रेडक्रास के महासचिव डीआर शर्मा ने कहा है कि आज ही उनके संज्ञान में मामला आया है कि रोहतक के झंग कॉलोनी निवासी नवीन बहल ने 2019 में मेडिकल मोड स्थित रेडक्रास की जगह 23 हजार प्रतिमाह किराये के हिसाब से लीज पर ली थी। बताया जा रहा है कि जमीन का किराया लाखों में है जबकि लीज पर जगह बेहद ही कम दाम पर दी गई। आरोप है कि ये काम नवीन ने शहर के चंद बड़े अधिकारियों की शह पर किया था। यह बात उन्हें आज समाचार पत्र के माध्यम से पढ़ने को मिली।

चूंकि आज ईद की छुट्टी है इसलिए कल वह कार्यालय में जाकर ही फाइल को देखेंगे। अगर मामले में गड़बड़ दिखी तो वह आगामी कार्रवाई करते है तो उसकी जानकारी अवश्य देंगे।

वहीं शहर के प्रॉपर्टी के जानकार बताते है कि यह भी भिवानी स्टैंड की तर्ज पर किया गया घोटाला था। परंतु इसे रद्द कर दिया गया। इस संदर्भ में रोहतक के रेडक्रास के सेकेट्री देवेंद्र चहल से बात की गई तो उन्होंने कहा कि अगर उच्च अधिकारी कोई जांच करते है तो संबंधित फाइल तैयार है, तुरंत प्रभाव से उन्हें भेज दी जाएगी।

रोहतक नगर निगम के एक कर्मी ने कागजात देते हुए बताया कि इस जगह का भी गोलमाल करने के लिए ताना बाना यही निगम में ही बुना गया था। लेकिन रेडक्रास के नशा मुक्ति केंद्र की इस जगह को लेकर कई समाजसेवी व राजनीतिक दल के लोग सक्रिय हो गए जिसके चलते इन भू-माफिया का सपना अभी तक चकनाचूर है।