रोहतक में 4 वर्षीय बच्चे का अपहरण, घर से सोते हुए उठा ले गए किडनैपर 

29 Oct, 2020 | Rohtak | garima times

रोहतक। हरियाणा में क्राइम पूरे जोर पर है। सरेआम हत्या, मारपीट, अपहरण और लूटपाट की वारदातें आम हो रही हैं। आज रोहतक के क्षेत्र काहनौर में अज्ञात बदमाशों ने अल सुबह अढ़ाई बजे पोपली वाले मोहल्ले से एक व्यवसाई के 4 वर्ष के इकलौते बेटे का अपहरण कर लिया। घटना के बाद पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। इस तरह से सरेआम बच्चे के अपहरण से क्षेत्र के लोगों में काफी गुस्सा है। उनका कहना है कि वे अपने घर में ही सुरक्षित नहीं है। अगर इस तरह से अपने घर से ही बच्चे गायब हो रहे हैं तो पुलिस की क्या जरुरत है, जब वे नागरिकों की रक्षा ही नहीं कर सकती। 

पता चलते ही परिवार के लोगों में हड़कंप मच गया। कलानौर थाना पुलिस बच्चे की तलाश में लगी हुई है। पुलिस को दी गई शिकायत में शंकरलाल ने बताया कि वह कस्बे में परचून की दुकान करते हैं। बुधवार रात अपनी पत्नी नीलम 4 वर्षीय बेटे दिव्यांश के साथ कमरे में सो रहे थे। जबकि उनकी मां सत्यवती पास वाले कमरे में सो रही थी।

रात करीब 12 बजे उनके बेटे दिव्यांश ने पानी मांगा। बेटे को पानी देकर वह सो गए। इसके बाद करीब ढाई बजे उनकी आंख खुली तो पता चला कि दिव्यांश बेड पर नहीं है। उन्होंने अपनी पत्नी को जगाया। इसके बाद बच्चे की तलाश शुरू की गई। व्यापारी का कहना है कि मकान के मेन दरवाजे का उन्होंने अंदर से ताला नहीं लगाया था। केवल कुंडी बंद थी। दरवाजे की कुंडी भी खुली मिली। किसी ने घर में घुसकर उनके बेटे का अपहरण किया और वहां से फरार हो गया। बच्चे के अपहरण की सूचना मिलते ही कलानौर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और उसकी तलाश शुरू की।  सुबह 8:00 बजे तक बच्चे का कोई पता नहीं चल सका था।

खबर लिखे जाने तक पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी थी लेकिन अभी तक बच्चे का कोई सुराग नहीं लग पाया था। पुलिस के ढुल मुल रवैये के चलते लोगों में नाराजगी साफ़ देखने को मिली, उन्होंने रोष प्रदर्शन करते हुए रोड पर धरना दिया। ग्रामीणों ने बेरी कलानौर मार्ग पर जाम लगा दिया। आधे घंटे बाद डीएसपी विनोद कुमार ने जाम खुलवाया। मगर ग्रामीणों ने आज शाम 4 बजे तक का अल्टीमेटम दिया है। अगर तब तक बच्‍चा नहीं मिला तो ग्रामीणों ने आंदोलन करने की चेतावनी दी।