ऑपरेशन में गर्भवती के पेट में छोड़ी कैंची, मौत, अस्थियों से हुआ बड़ा खुलासा

12 Nov, 2020 | Punjab | garima times

चंडीगढ़। पंजाब के मोगा के गांव बुद्ध सिंह का एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां पर सिविल हॉस्पिटल के डॉक्टरों की लापरवाही के चलते एक गर्भवती महिला की मौत हो गई। इस बात का खुलासा तब हुआ जब महिला के अंतिम संस्कार के बाद परिजन अस्थियां उठाने गया तो श्मशान घाट में ऑपरेशन  दौरान इस्तेमाल की जाने वाली कैंची और अन्य समान देख कर परिवार के होश उड़ गए।

दरअसल, मोगा के गांव बुद्ध सिंह वाला की गर्भवती महिला ने बच्ची को जन्म दिया था परन्तु उसकी हालत गंभीर होने के कारण उसे सिविल अस्पताल मोगा से फरीदकोट रैफर कर दिया गया जिसकी कल मौत हो गई। इस दौरान जब संस्कार के बाद आज परिवार अस्थियां उठाने के लिए शमशानघाट पहुंचा तो देखा कि वहां आपरेशन दौरान इस्तेमाल की जाने वाली कैंची और आपरेशन में इस्तेमाल किए जाने वाला अन्य समान राख में मौजूद था। जिसको देख कर परिवार हैरान रह गया। इस पर परिवार ने सिविल अस्पताल के कर्मचारियों पर कार्रवाई की मांग की है।  परिजनों ने महिला की मौत के लिए अस्पताल के डॉक्टरों को जिम्मेदार ठहराया है। वहीं दूसरी ओर संबंधित डॉक्टर ने अपनी गलती मानने से इनकार कर दिया है। वहीं अब मृतिका के परिजनों के शिकायत पर संबंधित थाना सिटी साउथ की पुलिस ने अस्पताल के सीनियर मेडिकल ऑफिसर को एक पत्र लिखकर इस मामले की रिपोर्ट मांगी है।  

दूसरी तरफ़ सरकारी अस्पताल की गायनी सिमरत कौर खोसा ने बताया कि यह लड़की उनके पास करीब 6 तारीख को आई थी और रविवार सुबह उसे सांस लेने में दिक्कत आ रही थी। जिस के चलते उसे फरीदकोट रैफर कर दिया गया। उन्होंने बताया कि वहां उसकी मौत हो गई। वहीं वहा के डाक्टरों के साथ भी उनकी बातचीत हुई है, जहां डाक्टरों ने बताया कि वहां भी पूरा पेट खोल कर चैक किया गया था। उन्होंने कहा कि जो वीडियो उन्होंने देखी और जो कैंची इस दौरान पाई गई है, वह सरकारी अस्ताल में आए स्टाफ की नहीं है, इसकी जांच होनी चाहिए। 

बता दें कि गर्भवती महिला मोगा के नजदीकी गांव बुध सिंह वाला की रहने वाली थी। महिला के परिवार वालों का आरोप है कि सरकारी अस्पताल के डॉक्टरों की लापरवाही के चलते उक्त मौत हुई है, जिस वजह से उन्होंने उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। वहीं इस मामले में पुलिस अधिकारी ने बताया कि परिजनों के मुताबिक, अस्‍थ‍ियों में से कैंची बरामद हुई है, जिसको पुलिस ने कब्जे में लेकर मामले की जांच शुरू कर दी गई है। 

गौरतलब है कि गर्भवती महिला की मौत से तीन दिन पहले मोगा के ही एक सरकारी हॉस्पिटल में बड़े ऑपरेशन से डिलीवरी की गई थी, जिसके बाद उसकी तबीयत खराब हो गई थी और फिर उसे डॉक्टरों ने फरीदकोट रेफर कर दिया। लेकिन उसके बाद महिला की मौत हो गई थी। फिलहाल इस मामले में जांच की जा रही है।