रेप पीड़िता को पेट्रोल से नहलाया, फिर बेटी के सामने ही लगा दी आग

16 Nov, 2020 | Rajasthan | garima times

जयपुर।  राजस्थान के जयपुर में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां शहर के कोतवाली थाना इलाके में रेप पीड़िता को पेट्रोल छिड़क कर उसके शरीर में आग लगाकर हत्या का प्रयास किया गया है। ये आग किसी और ने नहीं बल्कि खुद आरोपी ने ही लगाई थी। इस दौरान महिला करीब 70 प्रतिशत तक झुलस गई। उसे बचाने के चक्कर में उसकी नाबालिग बेटी भी आग की चपेट में आ गई, जिससे वह भी झुलस गई। जिसके बाद से दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां पर उनका इलाज जारी है। पुलिस ने इस मामले में मुख्य आरोपी समेत चार को गिरफ्तार किया है। 

आरोपी ने दीवाली के मौके पर पूजा कर रही पीड़िता के ऊपर पेट्रोल छिड़क दिया और फिर आग लगा दी। मौके पर महिला की बेटी भी मौजूद थी। वह अपनी मां को बचाने के लिए दौड़ी। बाद में बीच-बचाव के दौरान नाबालिग बेटी भी आग में झुलस गई। जैसे ही पुलिस को इस वारदात की सूचना मिली। वह मौके पर पहुंच गई। मां-बेटी को अस्पताल में भर्ती करवाया गया। पुलिस ने तत्काल आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस की दी जानकारी के अनुसार राजस्थान की राजधानी जयपुर से रेप का मामला दर्ज कराने वाली महिला को जिंदा जला देने का मामला सामने आया है।  पीड़ित महिला 50 फीसदी से ज्यादा जल चुकी है और जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल के बर्न वार्ड में अपनी जिंदगी के लिए जंग लड़ रही है।  पीड़िता महिला का आरोप है कि दिवाली के दिन उसके घर लेखराज नाम का व्यक्ति आया और उस पर ज्वलनशील पदार्थ डालकर उसको आग लगा दी।  लेखराज के खिलाफ महिला पहले ही अप्रैल में लॉकडाउन के दौरान जयपुर के कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज करवा चुकी है। 

उस समय महिला के आरोप के मुताबिक लेखराज ने नशीला पदार्थ खिलाकर उसके साथ रेप किया था और फिर उसकी क्लिपिंग्स बनाकर उसे ब्लैकमेल करता रहता था। अप्रैल में आरोपी लेखराज के खिलाफ कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज करवाई गई थी लेकिन पुलिस आरोपी को उस समय गिरफ्तार नहीं कर सकी थी। 

रिश्तेदार महिला के रिश्तेदार ने बताया, 'पहले इन दोनों में भाभी-देवर जैसा रिश्ता था, बोलचाल का।  उसके बाद में यह ब्लैकमेल करने लगा।  इन्होंने थाना कोतवाली में एफआईआर करवा दी थी।  आरोपी ने कहा था कि उसके पास वीडियो क्लिपिंग है और लॉकडाउन के दौरान वह पीड़िता को जबरन बुलाता था। 

रिश्तेदार ने बताया कि लेखराज की धमकी से परेशान महिला थाने में गई।  थाने में एफआईआर दर्ज करवाया और कोर्ट में बयान हुए।  उसके खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी हो चुका था. अब कल तक पुलिस ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया। आरोपी के भाई और पिता भी शामिल पुलिस के मुताबिक इस मामले में कुल चार आरोपी हैं जिसमें मुख्य आरोपी लेखराज के अलावा उसके दो भाई और पिता शामिल हैं।  आरोपियों के खिलाफ आईपीसी धारा 452, 34, 307 के तहत केस दर्ज कर लिया गया है।  महिला के मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज किए जा चुके हैं, जिसके बाद चारों की गिरफ्तारी हुई है।