धमाके में जली मासूम, तेज विस्फोट में झुलसे कई लोग

23 Nov, 2020 | Ambala | garima times

मनीमाजरा। चंडीगढ़ के गोविंदपुरा में बड़ा भीषण हादसा हो गया। यहां इलाके के मकान नंबर 1131 में एक गैस सिलेंडर में आग लग गई। जिसमें एक 6 महीने की बच्ची समेत करीब 5 लोग बुरी तरह से झुलस गए हैं। इन पांचों घायलों को इलाज के लिए मनीमाजरा अस्पताल ले जाया गया है। लेकिन 6 महीने की बच्ची की हालत ज्यादा खराब है, जिसके चलते नाजुक परिस्थितियों को देखते हुए उसे सेक्टर 16 में रेफर कर दिया गया है। बताया जा रहा कि ये घटना आज सुबह 9:30 बजे की है।  

गोविंदपुरा इलाके के इस मकान के एक कमरे में रहने वाले अनीश के घर का सिलेंडर चल नहीं रहा था। ऐसे में सिलेंडर को चेक करने के लिए अनीश अपने घर के बरामदे मे सिलेंडर रखकर रेगुलेटर लगाने की कोशिश करने लगा। तभी इसी कोशिश के दौरान रेगुलेटर की पिन निकल कर बाहर आ गई। जिससे कि सिलेंडर के अंदर की गैस एकदम प्रेशर से बाहर आने लगी। और इसी प्रेशर से निकल रही गैस ने पास वाले कमरे से आग पकड़ ली और सिलेंडर में आग लगने से एक धमाका हो गया।

इस भीषण हादसे में सबसे पहले अनीश के हाथ पांव और मुंह आग में झुलस गए। उसके अनीश की मदद करने के लिए पड़ोसी सलमान ने जब सिलेंडर पर बोरी डालकर आग पर काबू पाना चाहा तो वह भी आग में झुलस गया। इसी बीच बरामदे में चारपाई पर पड़ी छह महीने की पड़ोसी की लड़की अलीशा तक भी आग पहुंच गई।

मासूम अलीशा के माथे और मुंह पर आग लगने से उसकी हालत थोड़ी गंभीर बताई जा रही है। तुरंत ही अन्य पड़ोसी जिसमें वरुण और बिलाल आदि ने जब सिलेंडर की आग पर काबू पाने के लिए आगे आए तो वह भी आग में झुलस गए। देखते ही देखते आग ने महाभयानक रूप धारण कर लिया। लेकिन बच्ची के अलावा सब लोगों का इलाज करने के बाद मनीमाजरा अस्पताल के डाक्टरों ने उनको घर भेज दिया है। हालाकिं बच्ची अलीशा की हालत गंभीर होने पर उसको सेक्टर 16 अस्पताल में इलाज के लिए भेज दिया गया है।

ऐसे में मौके पर पहुंची पुलिस और फायर कर्मचारियों ने आग पर काबू पाने के लिए पूरी सहायता की। बताया जा रहा आग में अनीश के घर का सारा सामान भी जलकर खाक हो गया है। वहीं सिलेंडर की आग से आसपास के काफी घरों को नुकसान हो सकता था, यदि फायर कर्मचारी मौके पर पहुंचकर सिलेंडर को उठाकर बाहर ना लेकर आते तो एक बड़े हादसे से पूरा इलाका दहल सकता था।