15 साल से सुनी थी गोद, किसान दंपति ने बछड़े को बना लिया ‘बेटा’

19 Dec, 2020 | Uttar Pardesh | garima times

शाहजहांपुर। शादी को 15 बरस गुजर चुके थे। लेकिन इतने वर्षों बाद भी यूपी के किसान विजयपाल और पत्नी राजेश्वरी देवी की गोद सुनी थी। ऐसे में दंपति ने गाय के एक बछड़े को बेटे के रूप में गोद लेने का फैसला किया। उन्होंने अपने इस ‘बेटे’ का नाम ‘ललतू बाबा’ रखा है। दिलचस्प बात यह है कि कपल ने बुधवार को बछड़े का ‘मुंडन’ करवाया, जिसमें उन्होंने 500 से ज्यादा लोगों को बुलाया था।

कपल बछड़े को गोमती नगर तट के ललतू घाट पर ले गया, जहां ‘मुंडन’ का समारोह संपन्न हुआ। पुजारी ने बछड़े और उसके ‘माता-पिता’ को आशीर्वाद भी दिया।  विजयपाल ने कहा, ‘ललतू को मैंने हमेशा अपने ‘बेटा’ माना है। बछड़ा जन्म के बाद से ही हमसे जुड़ा है। हमारे लिए उसका प्यार बिलकुल सच्चा और बिना शर्त है।’ वहीं एक गांववाले ने बताया, ‘हम ‘मुंडन’ का न्यौता पाकर हैरान थे। बहुत से लोग इस समारोह में शामिल हुए। हम दंपति और बछड़े के लिए खुश और उत्साहित थे।’

पेरेंट्स के निधन के बाद से विजयपाल अपने शाहजहांपुर स्थित घर में अकेलापन महसूस करते थे। उनकी दो छोटी बहनों की भी शादी हो चुकी थी। विजयपाल ने कहा कि वह गाय के बेहद करीब रहे हैं। ललतू की मां को उनके स्वर्गीय पिता लाए थे। जब गाय की मृत्यु हो गई तो बछड़ा अकेला हो गया। इसलिए उन्होंने उसे अपने ‘बच्चे’ के रूप में अपनाने का फैसला किया। वो कहते हैं, ‘जब हम गाय को मां के रूप में स्वीकार सकते हैं तो एक बछड़े को अपना बेटा क्यों नहीं मान सकते।’