खाकी पर फिर लगा दाग, बीजेपी कार्यकर्त्ता को इतना किया टॉर्चर कि कर ली खुदकुशी, सुसाइड नोट में... 

19 Jan, 2021 | Punjab Ambala | garima times

अंबाला। लाख दाग लगें, लोग भला बुरा कहें, लेकिन खाकी है कि रिश्वत की खुराक लिए बिना रह नहीं सकती। फर्जी केस दर्ज करने और रिश्वत लेने के मामले में हमेशा विवादों में रहने वाली पंजाब पुलिस एक और विवाद में घिरती नजर आ रही है। दरअसल एक भाजपा कार्यकर्त्ता और पेशे से वकील ने सुसाइड नोट में अंबाला बॉर्डर के साथ लगते बलटाना पुलिस चौकी इंचार्ज समेत 6 लोगों पर परेशान करने का आरोप लगाते हुए फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक की पहचान दीपक कुमार निवासी त्रिवेदी कैंप के रूप हुई है। 

दीपक पेशे से इन्कम टैक्स का वकील था। उसने जीरकपुर में एक होटल लीज पर लिया था। मृतक से मिले सुसाइड नोट में उसने बलटाना पुलिस चौकी के इंचार्ज कुलवंत सिंह समेत 6 लोगों के खिलाफ उसे परेशान करने का आरोप लगाया है। इन्हीं उक्त लोगों से तंग आकर उसने यह कदम उठाने की बात अपने सुसाइड नोट में की है। मृतक के परिवार ने देर शाम तक पुलिस स्टेशन में सुसाइड नोट में नाम लिखे आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए जद्दोजहद की।

जानकारी के अनुसार 43 वर्षीय दीपक कुमार ने प्रीत कॉलोनी में पहली मंजिल पर स्थित अपने दोस्त के प्रॉपर्टी के दफ्तर में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक के पारिवारिक सदस्यों ने बताया कि दीपक रविवार को ही घर से चला गया था। उसका मोबाइल फोन रविवार शाम से ही बंद था। पारिवारिक मैंबर रात से ही उसकी तलाश कर रहे थे परंतु उसका कोई सुराग नहीं मिला। उन्होंने मृतक के दोस्त को फोन किया, जिसने बताया कि रात से ही दीपक उसके ऑफिस में है और वह बाहर है। उन्होंने जब उसके ऑफिस जाकर देखा तो उसने फंदा लगा रखा था।

शव के पास से पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें बलटाना चौकी इंचार्ज कुलवंत सिंह समेत छह लोगों को मौत को गले लगाने के लिए जिम्मेदार ठहराया गया है। कुलवंत के अलावा 5 लोगों में दविंदर सिंह, प्रेम मनोचा, मनी गुप्ता, रवि अरोड़ा व विपिन छाबड़ा ऑनर होटल डायमंड लीफ शामिल हैं। 4 पन्नों के सुसाइड में लिखा गया है कि होटल के पार्टनर, चौकी इंचार्ज कुलवंत सिंह के साथ मिलकर उसे ब्लैकमेल कर रहे हैं। यही नहीं उसे जान से मारने और परिवार को नुकसान पहुंचाने की धमकी भी दी जा रही है। परिवार के सदस्यों ने भी अपने बयानों में दीपक को परेशान किए जाने की बात कही है।  उसकी तरफ से लीज पर लिए होटल के पार्टनरों ने उसकी चैक बुक चोरी कर उसमें साढ़े 6 लाख रुपए भर कर बैंक से चैक बाऊंस करवाकर झूठी शिकायत बलटाना पुलिस चौकी इंचार्ज कुलवंत सिंह को देकर रोजाना उसे चौकी में बुलाकर जलील किया जा रहा था। इसी जलालत से तंग आकर उसने यह कदम उठाया है। 

 दीपक अरोड़ा के बैंक खाते की चेक बुक चुरा ली गई थी। दविंदर राणा फर्जी साइन करके उसमें पैसे भरकर दीपक के अकाउंट से पैसे निकाल रहा था और उसको ब्लैकमेल कर रहा था। इस वजह से दीपक मानसिक तौर पर काफी परेशान था और आखिरकार उसे सुसाइड कर ली।  उसने सुसाइड नोट में बलटाना चौंकी इंचार्ज समेत 6 के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। मृतक के पारिवारिक सदस्यों ने बताया कि पुलिस चौकी इंचार्ज कुलवंत सिंह रोजाना उसे चौकी में बुला लेता था और परेशान कर रहा था। 

SSP मोहाली सतिंदर सिंह ने बताया कि शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया गया है। यदि चौकी इंचार्ज पर लगे आरोप सिद्ध हुए तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। वहीं बलटाना चौकी इंचार्ज कुलवंत सिंह का कहना है कि मामले से उसका कोई लेना देना नहीं है। उन्हें रंजिश के तहत फंसाया जा रहा है।