सो रहा था पति, 'शराबी' पत्नी ने स्प्रिट डालकर लगाई आग

21 Jan, 2021 | Punjab | garima times

चंडीगढ़। घरेलू हिंसा का शिकार केवल महिलाएं ही नहीं होती हैं, बल्कि पुरुष भी हो रहे हैं। ऐसा ही एक मामला जालंधर के फिल्लौर थाने के अंतर्गत सामने आया है। सरकारी नौकरी करने वाले युवक की सोशल मीडिया पर एक युवती से दोस्ती हुई और दोनों के परिवारों की सहमति से लव मैरिज भी हो गई। 

शादी के बाद युवक को पता चला कि उसकी पत्नी शराबी है और वह नशे के लिए कुछ भी कर सकती है। इसके बाद दोनों में विवाद रहने लगा। यह विवाद इतना बढ़ गया कि एक दिन पत्नी ने सो रहे पति पर स्प्रिट डालकर आग लगा दी। इस वारदात में पति 40 फीसदी तक जल गया। इसके बाद पीड़ित पति इंसाफ के लिए आठ महीने से धक्के खा रहा है। लेकिन अभी तक उसे इंसाफ नहीं मिला।  

पंजाब अगेंस्ट करप्शन के प्रधान सतनाम सिंह दाऊं की अगुवाई में मोहाली के रोज गार्डन में बातचीत में पीड़ित युवक गुरप्रीत सिंह ने बताया कि उन्होंने पंजाब पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से मिलकर इंसाफ की गुहार लगाई है। गुरप्रीत सिंह ने बताया कि वह रेलवे में नौकरी करते हैं। सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी पत्नी के संपर्क में आया था, इसके बाद दोनों परिवारों की सहमति से लव मैरिज कर ली। इसी बीच उसकी पत्नी ने विवाह की पार्टी के बाद शराब की बोतलों की पेटी स्टोर से निकालकर अपने कमरे में रख ली थी। 

इसके बाद उसे पता चला कि उसकी पत्नी शराब पीने की आदी है। इसके बाद भी उसने अपनी पत्नी की आदत के साथ समझौता कर लिया। लेकिन हद तो तब हो गई जब उसकी पत्नी ने नशे की पूर्ति करने के लिए घर के गहने तक बेच डाले। गुरप्रीत सिंह ने बताया कि इसके बाद उसने यह बात अपने सास-ससुर को बताई। लेकिन कोई उस पर विश्वास करने को तैयार नहीं था। इस पर दोनों में आपसी विवाद रहने लगा।

गुरप्रीत सिंह ने बताया कि दोनों में इस बात को लेकर काफी बहस होती थी। इसके बाद 13 मई, 2020 की रात वह अपने घर में सोया था। इसी दौरान पत्नी ने उसके ऊपर स्प्रिट डालकर आग लगा दी। इस वारदात में वह 40 फीसदी तक जल गया। इसके बाद वह इलाज के लिए एक महीना तक अस्पताल में रहा। इस वारदात के बाद उसने पुलिस स्टेशन में अपनी पत्नी के खिलाफ आग लगाकर जान लेने की कोशिश का केस तक दर्ज करवाया। लेकिन पुलिस ने उसे अभी तक गिरफ्तार नहीं किया है। इसके बाद उसने इंसाफ के लिए अदालतों का दरवाजा भी खटखटाया लेकिन उसकी सभी याचिकाएं रद्द हो चुकी हैं।

गुरप्रीत सिंह ने कहा कि उसकी कोई सुनवाई नहीं हो रही है और पत्नी आरोपी होने के बावजूद सलाखों के बाहर घूम रही है, वहीं, पुलिस भी उसकी ही सुन रही है और उसके मुताबिक ही मिलकर काम कर रही है। जबकि आरोपी पत्नी सोशल मीडिया पर सक्रिय है और अपनी फोटो और पोस्ट अपडेट करती रहती है।

इस मामले में फिल्लौर एसपी मनजीत कौर ने मीडिया को बताया कि आरोपी महिला ने खुद को बेकसूर बताते हुए डीजीपी पंजाब को अर्जी दी है। इसके बाद वहां पर इस मामले की दोबारा जांच चल रही है। वहीं, उनकी ओर से इस मामले की जांच के बाद रिपोर्ट छह जनवरी को जालंधर एसएसपी को भी भेजी जा चुकी है। इसमें उन्होंने मामले को जायज बताते हुए आरोपी महिला को गिरफ्तार करने की सिफारिश की है। वहीं, डीजीपी से आदेश मिलने के बाद आरोपी महिला को गिरफ्तार करने की कार्रवाई की जाएगी।