सिविल हॉस्पिटल की बड़ी लापरवाही, डिलीवरी बीच में छोड़ भागी डॉक्टर, बच्चे की गई जान

झज्जर , रोहतक , | PUBLISHED BY: GARIMA TIMES | PUBLISHED ON: 28 JAN, 2021

रोहतक डॉक्टर्स को धरती के भगवान का दर्जा दिया गया है, लेकिन जब यही भगवान् अपनी लापरवाही के चक्कर में किसी की जान ले लें तो शिकायत किस से की जाये। झज्जर के नागरिक अस्पताल में डॉक्टर्स की टीम की बड़ी लापरवाही सामने आई है। टीम की लापरवाही का खामियाजा एक दंपति को भुगतना पड़ा। लापरवाही के चलते डिलीवरी के दौरान ही बच्चे की मौत हो गई। परिजनों ने संबंधित चिकित्सक पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है। परिजनों का कहना है कि यदि प्रसव के दौरान चिकित्सक टीम लापरवाही न बरतती तो नवजात की जान बच सकती थी। 

जानकारी के अनुसार रोहतक जिले के गांव इस्माईला की एक गर्भवती महिला सरिता पत्नी ललित को प्रसव का दर्द उठने के चलते उसके परिजनों ने स्थानीय नागरिक अस्पताल में बीती देर रात भर्ती कराया। रात्रि ड्यूटी पर तैनात महिला चिकित्सक ने डिलीवरी के दौरान जब मामला बिगड़ता देखा तो वह डिलीवरी बीच में ही छोड़कर वहां से चली गई। आरोप है कि काफी देर तक बच्चे को संभाला नहीं गया। जिसकी वजह से बच्चे की मौत हो गई। 



परिजनों का यह भी आरोप है कि उन्होंने रिसेप्शन पर बैठे कर्मचारियों को भी मामले से अवगत कराया, लेकिन उन्होंने भी बजाय मदद करने के मामले पर मजाक बना लिया। उधर, मामले की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जानकारी हासिल की। इसके बाद में सीएमओ डा. संजय दहिया भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने इस मामले में स्टाफ की क्लास लगाते हुए मामले की पूरी जानकारी ली।

सीएमओ का कहना है कि मामले की जांच के लिए एक कमेटी बना दी गई है। जैसे ही जांच पूरी होती है तो इस मामले में जो-जो कर्मचारी या फिर चिकित्सक दोषी पाए जाते हैं उन सभी के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। नवजात के शव का पोस्टमार्टम कराए जाने के बाद परिजनों को सौंप दिया गया।

लापरवाही ,डिलीवरी , बच्चे ,मौत ,चिकित्सक

खबरें और भी हैं..

अन्य समाचार