मोदी सरकार इंडिया को हेल्‍दी बनाने के लिए इन फॉर्मूलों पर काम, बताया पूरा प्‍लान

23 Feb, 2021 | National |


दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक वेबिनार को संबोधित करते हुए हेल्थ सेक्टर को लेकर कई बातें कही। इस दौरान उन्होंने हेल्थ में आ रही मजबूती पर भी बात की। पीएम मोदी ने भारत के लोगों को स्वस्थ्य रखने के लिए 4 मोर्चों पर काम करने की बात कही। उन्होंने कहा, इस समय 4 मोर्चों पर एक साथ काम हो रहा है। दरअसल कोरोना महामारी के चलते सरकार का ज्यादातर ध्यान इस वक्त हेल्थ सेक्टर पर ही है।

देश में कोरोना की स्थिति एक बार फिर चिंताजनक स्थिति पर पहुंच रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक पिछले 24 घंटों में देश में 10 हजार 584 कोरोना के नए मामले सामने आए हैं जबकि 78 लोगों की मौत हो गई है। इसके अलावा 13 हजार 255 लोग ठीक हो कर डिस्चार्ज हुए हैं। इसी के साथ देश में कोरोना के कुल आंकड़े बढ़कर 1,10,16,434 हो गए हैं जबकि 1,56,463 लोगों की मौत हो गई है। इनमें 1,47,306 इसके अलावा 13 हजार 255 लोग ठीक हो कर डिस्चार्ज हुए हैं।

कोरोना के सक्रिय मामले में और 1,07,12,665 ठीक हो चुके हैं। इससे पहले सोमवार को 24 घंटे में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए थे। इसी के साथ पीए मोदी ने ये भी कहा कि चिकित्सा उपकरण से लेकर दवाओं तक, वेंटिलेटर्स से लेकर वैक्सीन तक, हमें सभी पर ध्यान देना है ताकि देश भविष्य में किसी भी स्वास्थ्य आपदा के लिए बेहतर तरीके से तैयार रहे। पीएम मोदी ने कहा, हमारी सरकार स्वास्थ्य समस्याओं को टुकड़ों के बजाय Holistic तरीके से देखती है। इसलिए हमने देश में सिर्फ इलाज ही नहीं वेलनेस पर फोकस करना शुरु किया।

हमने निवारण से लेकर इलाज तक एक इंटिग्रेटेड अप्रोच अपनाई। इन मोर्चों के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा, ” पहला मोर्चा है, बीमारियों को रोकना, दूसरा मोर्चा, गरीब से गरीब को सस्ता और प्रभावी इलाज देने का है। आयुष्मान भारत योजना और प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र जैसी योजनाएं यही काम कर रही हैं। तीसरा मोर्चा है, हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर और हेल्थ केयर प्रोफेशनल्स की क्वानटिटी और क्वालिटी में बढ़ोतरी करना। चौथा मोर्चा है, समस्याओं से पार पाने के लिए मिशन मोड पर काम करना। मिशन इंद्रधनुष का विस्तार देश के आदिवासी और दूर-दराज के इलाकों तक किया गया है।