गांव वालों का कमाल, बनाया ऐसा शौचालय, जिसने देखा पकड़ लिया सिर

06 Mar, 2021 | National | garima times

बस्ती।  स्वच्छ भारत मिशन के तहत गांव में हर जरूरतमंद को शौचालय देने की योजना की अपार सफलता के बाद सरकार ने अब हर गांव में सामुदायिक शौचालय का निर्माण करवाना शुरू किया। ये तो सुनने में आपको यकीनन आम बात लगेगी। मगर इसमें क्या खास है वो हम आपको बताएंगे नहीं बल्कि दिखाएंगे। जी हां आप पहले सलटौवा ब्लॉक के भिउरा गांव में बनाए जा रहे इस समुदायिक शौचालय को देखिए।

न न हसिए मत, अरे जनाब एक शौचालय के अंदर दो दो सीट बनाने का नमूना बस्ती जिले के अधिकारी ही कर सकते हैं। अरे भाई आप सोच रहे होंगे ऐसा कहां होता है कि एक टॉयलेट के अंदर दो लोग एक साथ घुसे और नित्य क्रिया से निवृत हो, लेकिन बस्ती के जिला पंचायत राज विभाग के होनहार, इंटेलिजेंस और कुछ अलग करने की सोच रखने वाले अधिकारियों ने ऐसा कर दिखाया है। करे भी क्यों न हम 21वीं सदी में जो जी रहे हैं। हम अंतरिक्ष और चांद तक पहुंच गए हैं तो ऐसा शौचालय क्यों नहीं बनाया जा सकता।

जिस किसी ने भी प्रधान, इंजीनियर और ब्लॉक के अधिकारियों के इस अजूबे को देखा तो उनकी आंखे फटी की फटी ही रह गई। लोगों का अब यह सोच सोच कर सर चकरा रहा है कि कैसे दो लोग एक साथ इस शौचालय का प्रयोग करेंगे, और वो कौन लोग होंगे जो ऐसा करने को राजी हो जाएंगे। खैर आप ज्यादा मत सोचिए ये बस्ती जिला है, घोटालों का अपना रिकॉर्ड है यहां। इसलिए जिले के अधिकारियों के लिए ये कोई नई बात नहीं। भ्रष्टाचार कैसे करना है इसकी ट्रेनिंग यहां के अफसरों से ज्यादा और कौन दे सकता है।

दरअसल भीउरा गांव में बनाए गए सामुदायिक शौचालय में एक टॉयलेट रूम के अंदर दो दो सीट लगा दी गई है। अब इस नायाब शौचालय का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत 10 लाख से अधिक का बजट खपाया जा रहा है। मगर धरातल पर इस योजना का किस तरह से मजाक हो रहा इसकी तस्वीर आप खुद देख सकते हैं।

बहरहाल इस मामले को लेकर कांग्रेस जिला अध्यक्ष अंकुर वर्मा ने सवाल उठाया और मांग किया है कि पूरे मामले की जांच कर कार्यवाही होनी चाहिए। स्वच्छ भारत मिशन का इससे बड़ा भ्रष्टाचार का मामला और कोई नहीं हो सकता। वहीं, कमिश्नर अनिल सागर ने इस मामले पर कहा कि वाकई में ये तस्वीरें हास्यास्पद है मगर घोर लापरवाही भी है। जिसकी जांच करवाकर कड़ी कार्रवाही की जाएगी।