टॉयलेट में न करें ये एक गलती, वरना  हेल्थ का हो जाएगा कबाड़ा

06 Mar, 2021 | National | garima times

रोहतक। क्या आप भी बाथरूम में मोबाइल फोन साथ लेकर जाते हैं। अगर ऐसा है, तो अपनी इस आदत को आज से बदल लीजिए। क्योंकि आपकी ये बुरी आदत आपको कई तरह से संक्रमित रोगों का शिकार बना सकती है। इतना ही नहीं, आपको गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं से भी गुजरना पड़ सकता है।

अब तक लोग अपना समय बचाने के लिए बाथरूम में अखबार या मैग्जीन पढ़ते थे। लेकिन इन दिनों दोनों की जगह स्मार्टफोन ने ले ली है। अब लोग मोबाईल फोन के साथ बाथरूम में घंटों बिता देते हैं। फेसबुक चेक करना, इंस्टाग्राम फीड देखना, व्हाट्सएप पर चैट करना , यहां तक कि लोग दुनियाभर की खबरें भी फोन पर ही पढ़ लेते हैं। जो लोग वाकई इस चीज के आदी हो चुके हैं, उन्हें नहीं पता कि वे ऐसा करके खुद बीमारियों को न्यौता दे रहे हैं। अगर आपको यकीन न हो, तो हमारा ये आर्टिकल जरूर पढ़ें। यहां हम आपको बताएंगे कि शौचालय में स्मार्टफोन ले जाना कैसे आपको संक्रमित कर सकता है।

घर के सभी जगहों में से बाथरूम में सबसे ज्यादा कीटाणु पाए जाते हैं। यहां नल, हैंड ड्रायर, दरवाजों की कुंडी पर सबसे ज्यादा कीटाणु होते हैं, जो आपको कभी नजर नहीं आते। जब आप फ्रेश होने के दौरान फोन साथ ले जाते हैं, तो आपका फोन भी मल बैक्टीरिया के संपर्क में आ जाता है। ऐसा ज्यादातर तब होता है, जब आप फ्लश यूज करते हैं, खुद को पोंछते हैं या फिर डोर लॉक को छूते हैं और फिर फोन को छूने पर इसमें बैक्टीरिया की ग्रांड एंट्री हो जाती है। हालांकि, आपको इस बात का बिल्कुल अहसास नहीं होगा। जर्नल एनल्स ऑफ क्लीनिकल माइक्रोबायोलॉजी एंड एंटीमाइक्रोबियल्स में छपे एक अध्ययन के मुताबिक लोगों के मोबाइल फोन में 95 प्रतिशत संक्रमण वाले बैक्टीरिया साल्मोनेला, ई-कोली और सी-डिफिसाइल थे।

बाथरूम में फोन ले जाना कितना खतरनाक हो सकता है, ये आप सोच भी नहीं सकते। एरिजोना यूनिवर्सिटी के शोक कर्ताओं द्वारा किए गए अध्ययन में सामने आया है कि स्मार्टफोन में टॉयलेट सीट से 10 गुना ज्यादा बैक्टीरिया पनपते हैं। हम मल त्याग के बाद हाथ धोते हैं, लेकिन स्मार्टफोन को साफ करना भूल जाते हैं। नतीजतन रोग पैदा करने वाले कीटाणु और बैक्टीरिया उन पर चिपके रह जाते हैं, जो आसानी से संक्रमण का कारण बनते हैं। इसके बाद फोन पर मौजूद बैक्टीरिया और वायरस आपके शरीर और सतहों के कई हिस्सों के संपर्क में आते हैं।

टेक्नोलॉजी ने हमारे जीवन को कितना भी आसान क्यों न बना दिया हो, लेकिन हर वक्त इसका उपयोग आपको तनाव देने का बहुत बड़ा कारण है। बाथरूम में भी अगर आप फोन का इस्तेमाल करते रहेंगे, तो तनाव और अवसाद होना स्वभाविक है। फोन को बाथरूम में ले जाकर आप अपने दिमाग और स्वास्थ्य दोनों के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

बाथरूम में स्मार्टफोन का उपयोग करने का एक और हेल्थ रिस्क है बवासीर। जो लोग यहां भी अपने फोन को पास रखते हैं, जाहिर है वे यहां औसत से ज्यादा समय बिताते हैं। लंबे समय तक शौचालय में बैठने से भी रक्तस्त्राव की समस्या हो सकती है। इससे गुदा पर अधिक प्रभाव पड़ता है, जिससे आपको पेल्विक हिस्से में दर्द, सूजन या रक्तस्त्राव महसूस हो सकता है।

हर व्यक्ति को बाथरूम में पाए जाने वाले कीटाणुओं से संक्रमित होने का खतरा ज्यादा रहता है। अगर आप बाथरूम में अपना फोन यूज करते हैं, तो आपके लिए सुरक्षित रहना और स्वच्छता बनाए रखना बहुत जरूरी है। सबसे अच्छा विकल्प है कि जब आप टॉयलेट जाएं, तो फोन को बाहर ही छोड़ दें। अगर ले जाना जरूरी है, तो बाद में इसे अल्कोहल बेस्ड सैनिटाइजर से अच्छी तरह साफ करें। इसके अलावा कोशिश करें, कि बहुत ज्यादा समय शौचालय में न बिताएं। विशेषज्ञों के अनुसार, किसी को मल त्याग के दौरान 10 मिनट से ज्यादा नहीं बैठना चाहिए।